home page

गौशालाओं में चारे पानी के लिए आने वाला पैसा ना मिलने से ग्राम प्रधान परेशान

गौशालाओं में चारे पानी के लिए आने वाला पैसा ना मिलने से ग्राम प्रधान परेशान
 | 
उन्नाव समाचार
उन्नाव समाचार 

*गौशालाओं में चारे पानी के लिए आने वाला पैसा ना मिलने से ग्राम प्रधान परेशान*

पुरवा,उन्नाव। सरकार द्वारा चलाई जा रही महत्वपूर्ण गौशाला योजना धरातल पर ग्राम प्रधानों के लिए मुसीबत बनती जा रही है। क्योंकि सरकारी निर्देशों के अनुसार गौवंश के संरक्षण के लिए चलाई जा रही योजना, गौशालाओं में चारे पानी की व्यवस्था की जिम्मेदारी ग्राम प्रधानों के ऊपर डाली गई है। लेकिन सरकार द्वारा जो पैसा दिया जाता है। जब कई महीने नहीं मिलता तो इतने सारे गोवंश  के चारे पानी की व्यवस्था करना मुश्किल हो जाता है। पुरवा ब्लाक में कुल 18 ग्राम पंचायतों में गौशाला  संचालित हैं। बनिगांव ग्राम पंचायत ग्राम प्रधान प्रतिनिधि ओम प्रकाश ने बताया कि मेरी गौशाला में 165 गोवंश है। लेकिन पिछले 5 माह बीत जाने के बाद भी  रखरखाव और चारे पानी के लिए जो पैसा आता है । वह नहीं मिला ऐसे में बिना पैसे के गोवंश के रखरखाव और जारी पानी की व्यवस्था कैसे हो यह हम लोगों के लिए बड़ी समस्या बनती जा रही है।न जाने क्यों गौशाला में मिलने वाला पैसा पांच माह से अटका है।
यह स्थिति तब है जब गो-आश्रय स्थलों को संचालित कराने के लिए अग्रिम राशि उपलब्ध कराने का प्राविधान है। कर्ज लेकर गौशाला को संचालित करना पड़ रहा है। ग्राम प्रधान ने कहा है कि बकाया भुगतान नहीं मिलने व अग्रिम धनराशि नहीं दिए जाने से गोशाला संचालन करने में बहुत कठिनाई आ रही है।