home page

खीरों सीएचसी में हुआ विशाल स्वास्थ्य मेले का आयोजन

 | 
खीरों सीएचसी में हुआ विशाल स्वास्थ्य मेले का आयोजन

खीरों (रायबरेली)- बुधवार को सीएचसी खीरों में आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष में विशाल स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में मरीजों ने तीमारदारों के साथ पहुंचकर निःशुल्क स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ लिया। रोगियों की बीपी, डायबिटीज व खून जांच करने के साथ ही निःशुल्क दवाइयां वितरित की गईं। इस स्वास्थ्य मेले  में एलोपैथिक के साथ ही होम्योपैथिक व आयुर्वेदिक चिकित्सा से संबंधित भी स्टॉल लगाए गए। जिसमें मौजूद डॉक्टर व अन्य चिकित्सा स्टॉफ ने रोगियों का परीक्षण करते हुए आवश्यक दवाइयां व अन्य चिकित्सीय सलाह दिया। साथ ही शिक्षा विभाग, खाद्य सुरक्षा विभाग, आंगनबाड़ी, योग शिक्षा, नेहरू युवा कल्याण केंद्र आदि ने भी अपने इंस्टॉल लगाकर मेले में आए लोगों को अपने-अपने विभाग से संबंधित जानकारियां देते हुए सरकार की लाभकारी योजनाओं से अवगत कराया। इस मौके पर सीएचसी अधीक्षक डॉ इफ्तिखार अहमद ने स्वास्थ्य मेले में मौजूद स्वास्थ्य विभाग के सभी डॉक्टर, कर्मचारियों, आशा बहू व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को अपने विभाग से संबंधित लाभकारी योजनाओं की जानकारी देते हुए मेले में मौजूद सभी रोगियों को उत्तम स्वास्थ्य व स्वस्थ जीवन शैली के संबंध में बताया। खाद्य सुरक्षा अधिकारी अरुण कुमार सिंह ने रोगियों को खाद्य सुरक्षा के संबंध में जानकारी दी। शिक्षा विभाग की ओर से वरिष्ठ एआरपी संजय सिंह ने अपने विभाग से संबंधित जानकारियां दीं। स्वास्थ्य मेले का उद्घाटन प्रदेश के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) व जिले के एमएलसी श्री दिनेश प्रताप सिंह के प्रतिनिधि के रूप में कार्यक्रम में पहुंचे श्री कौशलेश सिंह (लालू) व हरचंदपुर विधानसभा के पूर्व विधायक राकेश सिंह के प्रतिनिधि विजय शर्मा (पिंटू) ने फीता काटकर किया। सीएचसी अधीक्षक डॉ इफ्तिखार अहमद द्वारा विशिष्ट अतिथियों को प्रतीक चिन्ह व पुष्प भेंट कर सम्मानित किया गया। विशिष्ट अतिथियों ने स्वास्थ्य मेले में लगे सभी स्टॉल का निरीक्षण करते हुए सभी विभागों से इस संदर्भ में जानकारी प्राप्त किया। इस मौके पर कई ग्राम सभाओं के ग्राम प्रधान, शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष श्याम शरण यादव, शिक्षक प्रदीप प्रताप सिंह, आशा बहू व आंगनबाड़ी कार्यकत्री मौजूद रहीं। मंच का संचालन फार्मासिस्ट विजय त्रिपाठी ने किया।

रुस्तम यादव खीरों रायबरेली