home page

दलित महिला ने योगी बाबा से की मांग नहीं चाहिए 112 नंबर, नहीं चाहिए पुलिस

 | 
दलित महिला ने योगी बाबा से की मांग नहीं चाहिए 112 नंबर, नहीं चाहिए पुलिस

बछरावां रायबरेली -- एक तरफ योगी सरकार कानून व्यवस्था और पुलिस व्यवस्था को लेकर सख्ती के आदेश दे रही है वही बछरावां पुलिस के रवैए से आम जनमानस त्रस्त है मामला बछरावां विकास क्षेत्र के बन्नावा ग्राम सभा की दलित महिला मीना देवी पत्नी वीरेंद्र कुमार ने लिखित शिकायत और आपबीती में बताया कि 20 अप्रैल को रात्रि लगभग 11:00 बजे मोहल्ले के आधा दर्जन लोगों ने मेरे घर आकर मुझ को मारा पीटा और मेरा मंगलसूत्र छीन ले गए। मैंने रात्रि में 112 नंबर डायल करके पुलिस को बुलाया तो पुलिस वाले ने थाने आने की बात कहीं जब मैं सुबह थाना बछरावां पहुंची तो मुझ दलित महिला को महिला कांस्टेबलों ने भद्दी भद्दी गालियां दी और कोई कार्यवाही नहीं की। मैं 2 दिन बाद थाना दिवस में शिकायत किया तो उल्टे ही मेरे घर में डकैती पड़ी और मुझको ही 151 की धारा में मुलजिम बनाकर चालान भेज दिया गया। इसको लेकर मैंने मुख्यमंत्री से मांग की है कि बछरावां थाने में हमारे अलावा अन्य महिलाओं के साथ और लोगों के साथ इसी तरह का बर्ताव किया जा रहा है और 112 नंबर पुलिस की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान लग रहे हैं जब कोई पीड़ित अपने बचाव में पुलिस से मदद मांगती है तो बछरावां पुलिस उल्टे ही उस पर मुकदमा लिख कर उत्पीड़न करती है तो कौन जाएगा थाने और कौन करेगा 112 नंबर डायल इसलिए मैं मुख्यमंत्री से मांग करती हूं कि 112 नंबर पुलिस की व्यवस्था बंद कर दी जाए।

आई एन एफ न्यूज़ उत्तर प्रदेश

असगर अली/वीरेंद्र कुशवाहा पत्रकार हरचंदपुर वछरावा रायबरेली