home page

पराली जलाने के खिलाफ कोतवाली प्रभारी से लगाई न्याय की गुहार

 | 
पराली जलाने के खिलाफ कोतवाली प्रभारी से लगाई न्याय की गुहार

बछरावां रायबरेली -- एक तरफ प्रदेश सरकार किसानों को पराली जलाने पर प्रतिबंध किए हुए हैं वहीं दूसरी तरफ दबंगों द्वारा किसानों की पराली जलाकर जानवरों के मुंह का निवाला छीनने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की गई है। मामला बछरावां के किसान चंद्र किशोर निवासी वार्ड नंबर 6 बछरावां का है की देवपुरी ग्राम सभा में गौशाला के बगल में नहर से लगे 5 बीघा खेत में दिनांक 3 मई को लगभग 5:30 बजे खेत में आग लगा दी गई। जब खेत में आग लगने की जानकारी हुई तो किसान द्वारा पता लगाया गया तो पता चला कि उस समय नहर के ऊपर आरूष पटेल नाम का 9 वर्षीय बालक जानवर चरा रहा था उससे जानकारी हुई तो उसने बताया कि मोहल्ला हनुमान टोला निवासी विनीत कुमार उर्फ गीतेश पुत्र बिंदा प्रसाद वार्ड नंबर 7 बछरावां के द्वारा रमेश बढ़ई के खेत की कटाई करके वापस लौट रहे। दीपेश ने ट्रैक्टर रोक कर खेतों के पास में और रणधीर के बगल से लगी मेड के हिस्से में आग लगा दी और ट्रैक्टर लेकर चल दिए। उस नाबालिग बालक ने देखा कि अचानक आग की लपटें आसमान छूने लगी प्राप्त जानकारी के अनुसार किसान ने अपने खेत की पराली जलाने के थाना प्रभारी को लिखित शिकायत देखकर मांग की है कि इस दबंग के खिलाफ सख्त कार्रवाई करा कर जो 5 ट्राली भूसा और 5 बोरी गेहूं का नुकसान की भरपाई कराएं जाय और मुकदमा लिख कर जेल भेजा जाने की मांग की गई है शिकायत के उपरांत 1 दिन बीत जाने के बाद बछरावां पुलिस मामले को जस के तस डालकर इतिश्री कर रही है तो सवाल उठता है कि इन दबंगों के हौसले बुलंद होंगे और किसान इसी तरह परेशान होंगे क्या किसान को न्याय मिलेगा।

आई एन एफ न्यूज़ उत्तर प्रदेश


असगर अली पत्रकार बछरावां रायबरेली