home page

मुख्तार अंसारी से है राजा भईया का सम्बन्ध - बाहुबली विजय मिश्रा

 | 
मुख्तार अंसारी से है राजा भईया का सम्बन्ध - बाहुबली विजय मिश्रा

 
मिर्जापुर - रंगदारी मांगने के मामले में बाहुबली विजय मिश्रा मिर्जापुर की प्रथम अपर चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट कोर्ट में शुक्रवार को पेश हुए। सुनवाई के बाद पूर्व विधायक विजय मिश्रा ने बाहुबली मुख्तार अंसारी से अपने संबंध होने की बात का खंडन करते हुए यूपी पुलिस पर बड़ा आरोप लगाया है। इसके साथ ही विजय मिश्रा ने अपने परिवार समेत खुद को फसाए जाने की बात कही है।
मुख्तार अंसारी से संबंध होने के आरोप में बाहुबली विजय मिश्रा ने कहा कि मुख्तार से हमारे 1998 से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि मैंने सालों से मुख्तार को देखा तक नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्तार अंसारी से राजा भैया का संबंध है। तत्कालीन खाद्य मंत्री रहते हुए राजा भैया ने ही गाजीपुर में एफसीआई का गोदाम बनवाया था। बृजेश सिंह से संबंध को लेकर विजय मिश्रा ने कहा कि उनसे मेरे संबंध हैं उनको चुनाव जितवाने में मैंने मदद की है। विजय मिश्रा ने कहा कि सरकार उनके बेटे दामाद के खून की प्यासी है। अभी और कितने मुकदमे लगेंगे और कितनी पेशी होगी अभी नहीं जानते हैं।

 गुरुवार को विजय मिश्रा के पंट्रोल पंप से AK-47 और कारतूस बरामद होने की बात पर मिश्रा ने कहा कि विधायक सुशील सिंह ने मुझे कुछ माह पूर्व ही इसकी जानकारी दे दी थी। अभी 3 AK-47 और 9 एमएम पिस्टल, ग्रेनेड और दिखाने की पुलिस की तैयारी है। विजय मिश्रा ने आरोप लगाते हुए कहा कि पहले मेरे साथ यही अवैध असलहे दिखाने की साजिश थी। मुझे नहीं फंसाया तो मेरे बेटे को इसमें लपेटा है। विजय मिश्रा ने कहा कि 6 महीने से पेट्रोल पंप बंद था, मैंने इसकी सूचना न्यायालय को लिखित रूप से दी थी। गुरुवार को ही विजय मिश्रा के बेटे से पुलिस ने पूछताछ की है।
 

बता दें, विधायक विजय मिश्रा तीन बार सपा और चौथी बार निषाद पार्टी से विधायक रहे हैं। योगी सरकार आने के बाद मोदी-योगी का गुड़गान कर खुद को सेफ करने की कोशिश करते रहे हैं, लेकिन कुछ माह पहले ही उनके रिश्तेदार ने अपना मकान और फर्म कब्जा करने की शिकायत पुलिस से की। इसी दौरान एक ऑडियो वायरल हुआ, जिसमें विधायक एक व्यवसायी को धमकी दे रहे हैं। व्यवसायी का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने टोल का ठेका लेने में अपने एक जानने वाले कि मदद कर दी थी। इन मामलों में सख्त हुई पुलिस ने विधायक को तब गिरफ्तार कर लिया जब वो मध्य प्रदेश से महाकाल का दर्शन कर लौट रहे थे। तभी से वो आगरा जेल में बंद हैं