home page

गोंडा में गौशालाओं में सभी आवश्यक प्रबंध दुरुस्त कराने के निर्देश

 | 
 गोंडा में गौशालाओं में सभी आवश्यक प्रबंध दुरुस्त कराने के निर्देश

जनपद में संचालित सभी 60 गौ आश्रय स्थलों में उनकी क्षमता के अनुसार गौ वंशों का संरक्षण किया जाय, आवारा गौवंश सड़कों पर न घूमने पाएं, गौवंशों की शत-प्रतिशत टैगिंग कराई जाय तथा संचालित गौ आश्रय केन्द्रों में सभी आवश्यक प्रबन्ध सुनिश्चित कराएं। यह निर्देश डीएम डाॅ0 उज्ज्वल कुमार ने सोवमार को जिला पंचायत सभागार में आयोजित गौआश्रय स्थलों एवं गौ संरक्षण से संबधित बैठक मेें सभी खण्ड विकास अधिकारियों, एडीओ पंचायत व पशु पालनव विभाग के अधिकारियों को दिए हैं।
       जिलाधिकारी ने स्पष्ट चेतावनी दी कि यह संज्ञान में आया है कि गौ आश्रय स्थलों पर व्यवस्थाओं के संबन्ध में पंचायत सचिवों, ग्राम प्रधानों तथा पशु पालन विभाग के अधिकारियों द्वारा रूचि नहीं ली जा रही है, जिससे गौ वंशों का संरक्षण शासन की मंशानुसार नही हो पा रहा है। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी ब्लाकों के बीडीओ व पशुपालन विभाग के अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में संचालित गौशालाओं का साप्ताहिक निरीक्षण करें तथा उसकी रिपोर्ट सीडीओ और फोटोग्राफ्स के साथ उपलब्ध कराएं।
          जिलाधिकारी ने कहा कि यदि किसी भी गौशाला में लापरवाही के कारण गौवंश की मृत्यु होती है तो इसके लिए सीधे तौर पर बीडीओ और सहायक पशु चिकित्साधिकारी को जिम्मेदार माना जाएगा। उन्होंने निर्देश दिए गौशालाओं में संरक्षित गौ वंशों का टीकाकरण कराएं। इसके साथ ही हरे चारे की बुआई भी कराएं जिससे गौवंश कमजोर न रहें। गौवंशों का शत-प्रतिशत बन्ध्याकरण भी कराया जाय। जिलाधिकारी ने गौशाओं की मॉनिटरिंग के लिए जिला पंचायत राज अधिकारी को ओवर आॅल नोडल अधिकारी नामित करते हुए निर्देश दिए हैं कि गौ वंशों के संरक्षण में जो भी ग्राम प्रधान या पंचायत सचिव रूचि न ले अथवा सहयोग न करे उसके खिलाफ कार्यवाही प्रस्तावित करें। मृतक गोवंशों के शवों का समुचित निस्तारण कराने तथा गौ वंशों की गणना भी कराते रहने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा अभियान चलाकर आवारा गोवंश को गौ आश्रय स्थलों में संरक्षित कराया जाय।
      बैठक में सीडीओ शशांक त्रिपाठी, एसडीएम करनैलगंज हीरालाल, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत राजेश चौधरी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी रवीन्द्र सिंह राठौर, डीडीओ दिनकर विद्यार्थी, डीसी मनरेगा संत कुमार, डीसी एनआरएलएम नरेश बाबू सविता, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव, जिला उद्यान अधिकारी मृत्युंजय सिंह सहित समस्त सहायक पशु चिकित्साधिकारी व खण्ड विकास अधिकारी, एडीओ पंचायत, एपीओ मनरेगा तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

राम बहादुर मौर्य जिला ब्यूरो चीफ INF मीडिया गोंडा