home page

जिले के ई-श्रम कार्ड धारक 1 लाख 66 हजार 811 तथा पंजीकृत

 | 
जिले के ई-श्रम कार्ड धारक 1 लाख 66 हजार 811 तथा पंजीकृत

सोमवार को प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ जी द्वारा लोक भवन के ऑडिटोरियम से उत्तर प्रदेश के सभी संगठित/असंगठित 03 करोड़ 81 लाख कामगारों एवं निर्माण श्रमिकों को भरण-पोषण भत्ता वितरण किये जाने की योजना के प्रथम चरण में लगभग 1.50 करोड़ कामगारों को भरण-पोषण भत्ता/हितलाभ की 500 रूपए प्रतिमाह की दर से 02 माह का 01 हजार रूपए कुल 1500 करोड़ की धनराशि का आनलाइन हस्तांतरण किया गया। वहीं जनपद के ई-श्रम कार्ड धारक 1 लाख 66 हजार 811 पंजीकृत श्रमिकों तथा पंजीकृत एवं नवीनीकृत व आधार वेरीफाइड 69 हजार 775 श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रूपए की धनराशि स्थानान्तरित की गई।
     जनपद स्तर पर जिला पंचायत सभागार में वर्चुअली आयोजित कार्यक्रम में लखनऊ से मा0मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्ष 2017 से पहले श्रमिक शोषण का शिकार होता था, उसे शासन की किसी भी योजना का लाभ नही मिलता था, लेकिन आज उन्हें समस्त सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। उन्होने कहा कि एक कार्य पूरा होते ही श्रमिक दूसरे कार्य हेतु दूसरे शहरों की ओर निकल पड़ते थे और उनके बच्चों का पढ़ाई नही हो पाती थी, अब सरकार ने तय किया है कि हर मण्डल मुख्यालय पर अटल आवासीय विद्यालय बनाये जायेंगे। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री शादी विवाह योजनान्तर्गत गरीब कन्या की शादी के लिए 51000 रू0 दिये जाते हैं। श्रम विभाग में गरीब कन्याओं की शादी के लिए रू0 75000 तक की धनराशि देना प्रारम्भ किया है। उन्होने कहा कि उ0प्र0 देश का पहला राज्य है, जिसमें भारतीय मजदूर संघ के साथ मिलकर हर श्रमिकों को 02 लाख की सामाजिक सुरक्षा की गारंटी एवं 05 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा कवर देने की व्यवस्था बनायी गयी है।
     इस अवसर पर मा0 विधायक सदर प्रतीक भूषण सिंह द्वारा उ0प्र0 भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार बोर्ड द्वारा पंजीकृत निर्माण श्रमिकां के हितार्थ आपदा राहत योजना, भरण पोषण भत्ता योजना अंतर्गत असंगठित कामगार एवं निर्माण श्रमिकों का प्रतिकात्मक रूप से स्वीकृति प्रमाण पत्र दिया गया।
    इस अवसर पर डीएलसी रचना केसरवानी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी योगेश दीक्षित एवं असंगठित कामगार एवं निर्माण श्रमिक उपस्थित रहे।

काशी राम मौर्य जिला संवाददाता INF मीडिया गोंडा /राम बहादुर मौर्य जिला ब्यूरो चीफ INF मीडिया गोंडा