home page

प्रयोगात्मक विज्ञान ही सफलता का मार्ग प्रशस्त करता है

 | 
प्रयोगात्मक विज्ञान ही सफलता का मार्ग प्रशस्त करता है

एम आर के पब्लिक स्कूल -   संसार का कोई भी क्षेत्र, कोई भी विद्या हो, प्रयोगात्मक विज्ञान ही सफलता का मार्ग प्रशस्त करता है । एक दर्शक,  दीर्घा मेँ बैठ, खेल देख कर किसी खिलाड़ी के भीतर उमड़ रहे उत्साह व उमंग का अनुभव नहीँ कर सकता है । यह आनंद पाने के लिए तो उसे स्वयं मैदान मेँ उतरकर खेलना होगा ।एक विज्ञान के विद्यार्थी के लिये केवल कुछेक वैज्ञानिक समीकरणोँ व सिद्धांतो का पठन-पाठन करना पर्याप्त नहीँ है । अपितु प्रयोगशाला मेँ जाकर practical करना उसके लिये  अनिवार्य है। इन्ही विचारों के साथ लगातार science और technology पर काम कर रही संस्था एम.आर.के.हायर सेकेंडरी स्कूल लिहई द्वारा आज बच्चों को  ATAL TINKARING LAB  तक ले जाया गया साथ ही साथ बच्चों को LABORATORIC instrument,EQUIPMENT, CHEMIACAL  एव्म् पुस्तकालय का ब्रहद ज्ञान कराया गया। जिसमे विजिट किये गये कॉलेज(शुशीला देवी कॉलेज ऑफ फार्मेसी टिकरा मवई कौशाम्बी)  के चेयर मैन श्री अजय श्रीवास्तव एवं एच.ओ.डी.श्री आकाश श्रीवास्तव जी ने एम.आर.के.हायर  सेकेंडरी स्कूल लिहई के बच्चो को बधाई देते हुए विद्यालय की कार्यशैली और् लगन का खूब बखान किया और् साथ ही साथ हर संभव मदद  देने की बात कही ।इस दौरान विद्यालय के समस्त स्टाफ एवं एम.आर.के.हायर सेकेंडरी स्कूल लिहई के प्रधानाचार्य रंजीत सिंह ,डायरेक्टर कुलजीत सिंह सहित शिक्षक साथी मौजूद रहे  इसी दौरान डायरेक्टर कुलजीत सिंह ने सुशीला देवी  कॉलेज ऑफ फॉर्मेसी टिकरा मवई कौशाम्बी के चेयर मैन सर ,एच.ओ.डी., एवं विद्यालय के सभी सदस्यों का आभार ब्यक्त किया।


 INFन्यूज रणविजय सिंह फतेहपुर